July 31, 2011

सुनाता चाँद

सुनाता चाँद
हरी-भरी घास को
ओस वृतांत




-प्रदीप कुमार दास
   (हाइकु दर्पण से )

No comments: