September 18, 2011

सोना ही सोना

सोना ही सोना
सरसों के खेत में
ओह ! वसन्त ।


-डा० भगवतशरण अग्रवाल

No comments: