June 13, 2012

मेघ बरसे


मेघ बरसे
नीड़ से न निकली
चिड़ी भोर की


-डा० शैल रस्तोगी

[ "सन्नाटा खिंचे दिन" हाइकु संग्रह से साभार ]

No comments: