June 13, 2012

उनके पास


उनके पास
डालने को टुकड़े
इनके पूँछ


-डा० भगवतशरण अग्रवाल

[ हाइकु भारती, जन० - मार्च 1999 से साभार ]




No comments: