October 28, 2012

पढ़ लिया है


पढ़ लिया है
अंधी भिखारिन ने
पाप मन का

-राजीव गोयल
[ फेसबुक से साभार ]

No comments: