December 20, 2012

सहला गयी


सहला गयी
घुँघराली लटों को
बेशर्म हवा

-सुनीता अग्रवाल
[फेसबुक से साभार]

No comments: