December 14, 2013

थकते नहीं

थकते नहीं
केंचुली बदलते
मन के साँप

-डा॰ अनिता कपूर
[फेसबुक हाइकु समूह से]

1 comment:

sunita agarwal said...

sarthak haiku ..badhayi