May 26, 2014

चाँद ये कहे


चाँद ये कहे
राह है मुझ तक
मन तो बना

-अरविन्द चौहान
[फेसबुक हाइकु समूह पर आयोजित "चित्र देखकर हाइकु लिखो" कार्यशाला से]

1 comment:

vibha rani Shrivastava said...

बहुत सुंदर हाइकु