January 14, 2012

जपा कुसुम


जपा कुसुम
खिले, दहके, झरे
तुम न मिले।

-डा० सुधा गुप्ता

(हाइकु पत्र 22,  अगस्त-1984 से साभार)

No comments: